पत्नी ने प्रेमी संग विवाह करने के लिए रचा पति को मारने का षड्यंत्र, मंडार पुलिस ने सुलझाई गुत्थी

▫️सिरोही जिले में मंडार थाना क्षेत्र के दानपुरा गांव में पत्नी ने पति को जान से मारकर प्रेमी से शादी करने का षड्यंत्र रचा । पत्नी ने पति पर हुए हमले को लेकर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, परन्तु मंडार पुलिस ने सूझबूझ से घटना की पूरी गुत्थी सुलझाकर पत्नी सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया ।

मंडार/सिरोही । प्राप्त जानकारी के अनुसार गत 2 मार्च को हरीश कुमार प्रजापत निवासी दानपुरा (मंडार) ने रिपोर्ट दी कि 1 मार्च को शाम 7.30 बजे अपनी पत्नी दक्षा के साथ मोटरसाइकिल पर कुएं से घर जा रहे थे, तब दानपुरा प्राथमिक स्कूल के पास सामने से एक मोटरसाइकिल चालक ने अपनी मोटरसाइकिल से तेजगति व लापरवाहीपूर्वक चलते हुए टक्कर मार दी, जिससे वे दोनों गिर गए । गिरने के बाद मोटरसाइकिल चालक व उसके साथी ने उसके साथ मारपीट की, जिसके बाद वे इलाज के लिए अस्पताल गए । घटना के समय उनका मोबाइल, पर्स व पत्नी के आभूषण भी गुम हो गए । इस पर प्रकरण दर्ज कर मंडार थाना पुलिस द्वारा अनुसंधान शुरू किया गया ।

प्रकरण की जानकारी पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह को मिलने पर मामले की बारीकी से जांच करने के निर्देश दिए गए, जिसकी पालना में मंडार पुलिस द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण कर घटना के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गई एवं तकनीकी साक्ष्य जुटाये जाने पर रिपोर्टकर्ता के पत्नी की भूमिका संदिग्ध पाई गई । इसके बाद संदिग्ध प्रवीण कुमार भील निवासी रायपुर को दस्तयाब कर पूछताछ में सामने आया कि दक्षा के उसके साथ प्रेम प्रसंग के चलते उसके पति हरीश कुमार को जान से खत्म करवाकर प्रेमी के साथ शादी करने का षड्यंत्र रचने के बारे में बताया । उसी अनुरूप उन्होंने हमला किया, परन्तु हरीश कुमार के चिल्लाने पर वे मोबाइल, पर्स, जेवरात लेकर फरार हो गए । घटना के बाद भी दक्षा ने जानकारी छुपाकर हरीश को एक्सीडेंट का मुकदमा करवाने की सलाह दी । रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद पुलिस को जांच में गुमराह करने के लिए हरीश ने उसकी पत्नी की सलाह अनुसार एसपी ऑफिस पहुंचकर त्वरित जांच करने की मांग की थी ।

अभियुक्त प्रवीणकुमार पुत्र बाबूजी भील निवासी रायपुर, अमृतभाई माली हाल निवासी रायपुर, प्रवीणकुमार पुत्र मगनाजी भील निवासी जालमपुरा तथा षड्यंत्रकर्ता दक्षा उर्फ संजना पत्नी हरीश कुमार प्रजापत निवासी दानपुरा को गिरफ्तार किया गया, जिनसे अनुसंधान जारी है । क्षेत्र के लोगों ने उक्त घटना का खुलासा करने पर थानाधिकारी मय मंडार पुलिस टीम का आभार व्यक्त किया ।

कार्यवाही में थानाधिकारी अशोक सिंह उप निरीक्षक, हेड कॉन्स्टेबल रमेश दान, कांस्टेबल रणजीतसिंह, हनुमानराम ( तकनीकी सहायक), आसुराम, सोहनलाल, ओमप्रकाश, दिनेश कुमार आरएसी का सहयोग रहा ।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )