मोहनलाल सुखाड़िया विश्विद्यालय में कुलपति बनाम रजिस्ट्रार विवाद

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर पहले तो छात्र राजनीति तक ही सीमित था, परन्तु अब यहां का विवाद बाहरी राजनीति के रंग से जुड़ा नज़र आ रहा है । विश्वविद्यालय में कुलपति व रजिस्ट्रार का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा, वहीं छात्र संगठन भी इस मामले में कूद पड़े हैं एवं राजनैतिक संगठन भी इस मामले से दूर नहीं है।

नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने भी मामले का संज्ञान लिया है व पूरे घटनाक्रम की निंदा की है ।

उदयपुर । विश्वविद्यालय में सोमवार को हंगामे की बरसात नज़र आई । विवि से जुड़े निजी महाविद्यालय के संचालकों ने रजिस्ट्रार सीआर देवासी और कंट्रोलर के साथ अभद्रता की, जिसकी सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची प्रतापनगर थाना पुलिस ने समझाइश कर मामले को शांत कराया । 

यह था पूरा घटनाक्रम

प्राप्त जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार देवासी ने बताया कि कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह के कहने पर सोमवार को एक बैठक का आयोजन किया जा रहा था, इस बैठक में विश्वविद्यालय से जुड़े निजी महाविद्यालयों से ली जाने वाली जीएसटी राशि के संबंध में चर्चा की जानी थी, परन्तु जब वे बैठक में शामिल होने के लिए निर्धारित समय पर विश्वविद्यालय के गेस्ट हाउस पहुंचे, तो उससे पहले ही विश्वविद्यालय से जुडे निजी महाविद्यालय के कुछ संचालक और छात्र वहां पर मौजूद थे, जो जीएसटी की राशि को लेकर उनसे बहस करने लगे ।

बहस के दौरान कंट्रोलर के साथ बदसलूकी की गई । महाविद्यालय संचालक की इस क्रिया को जब वहां उपस्थित स्टाफ ने मोबाइल में रिकॉर्ड करना चाहा तो वो भड़क गए और उनके साथ हाथापाई कर मोबाइल छीन लिया । गरमाते मामले कि सूचना पर प्रताप नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस ने समझाइश कर मामले को शांत किया ।

देवासी ने कुलपति पर लगाए पूरे घटनाक्रम के आरोप, राज्यपाल – मुख्यमंत्री को कराया अवगत

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर रजिस्ट्रार देवासी ने विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह पर कई गंभीर आरोप लगाए । उन्होंने बताया कि कुलपति स्वयं बैठक में देरी से आए, कुलपति के इशारे पर ही निजी महाविद्यालय के संचालकों ने उनके साथ अभद्रता की है ।

अपने साथ हुए इस बर्ताव को लेकर रजिस्ट्रार देवासी ने ट्वीट कर पूरे मामले से राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी अवगत कराया है । साथ ही उन्होंने वसीम खान सहित करीब एक दर्जन लोगों के खिलाफ प्रतापनगर थाने में राज्यकार्य में बाधा डालने सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कराया है ।

क्या कहते हैं निजी महाविद्यालय के संचालक

वहीं इस मामले को लेकर निजी महाविद्यालय संचालकों का कहना है कि पूरे प्रदेश में किसी भी विश्वविद्यालय की ओर से उन से एफिलेटेड महाविद्यालय से जीएसटी की राशि नहीं ली जा रही है । इसको लेकर वे तमाम पत्र विश्वविद्यालय के प्रबंधन को सौंप चुके हैं, इसके बावजूद उनसे जीएसटी की राशि को लेकर परेशान किया जा रहा है । 

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा नहीं चलेगी ऐसी गुंडागर्दी

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने इस मामले को लेकर बताया कि उदयपुर में इस प्रकार की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी, देवासी एक बेहतरीन प्रशासनिक अधिकारी हैं, विवि में हुई यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है ।

छात्र संगठनों ने खोला कुलपति के खिलाफ मोर्चा

मामले को लेकर एबीवीपी समेत कई संगठन रजिस्ट्रार के समर्थन में उतर गए हैं । वहीं मंगलवार को एबीवीपी ने विश्विद्यालय को बंद करवा कर कुलपति के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है ।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )