पुलिस उप अधीक्षक जेठूसिंह द्वारा नाबालिग की मौत के आरोपी को किया गया गिरफ्तार

गत वर्ष पेड़ पर लटकी मिली थी युवती की लाश, आत्महत्या के लिए उकसाने पर किया गिरफ्तार

किशन माली, पिण्डवाड़ा


पिण्डवाड़ा । जिला पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेंद्र शर्मा के निर्देशन में जेठू सिंह पुलिस उप अधीक्षक वृत्ताधिकारी वृत्त पिण्डवाड़ा के द्वारा पुलिस थाना पिण्डवाड़ा में दर्ज हत्या के प्रकरण का सत्यापन कर एक मुलजिम को गिरफ्तार किया गया । 

होलिका दहन पर गायब हुई थी नाबालिग, 2 दिन बाद पेड़ पर लटकती मिली थी लाश


दिनांक 30 मार्च 2021 को तेजाराम पुत्र राजाराम गरासिया निवासी तालाब फली आमली ने पुलिस थाना पिण्डवाड़ा में रिपोर्ट दर्ज कर बताया कि गत 28 मार्च 2021 को रात्रि में उसकी पुत्री गंगी कुमारी आयु करीब 16 वर्ष, अपनी सहेलियों के साथ अपने घर से ग्राम आमली में होलिका दहन का कार्यक्रम देखने गई थी । रात्रि 12:00 बजे तक उसकी अन्य सहेलियां अपने-अपने घर पर आ गई लेकिन उसकी पुत्री घर पर नहीं लौटी तब परिवारजनों ने आसपास एवं रिश्तेदारी में सभी जगह उसकी खोजबीन की, पर उसका कहीं भी पता नहीं चला । उसके पश्चात 30 मार्च 2021 को सुबह व्हाट्सएप से ज्ञात हुआ कि अल्ट्राटेक सीमेंट की रेलवे लाइन के पास पेड़ पर लाश लटकी हुई है । तब वे अपने परिजनों के साथ मौके पर पहुंचे तथा देखा तो एक पेड़ की डाली पर उसी की ओढ़नी से गंगी कुमारी लटकी हुई थी । इस घटना की सूचना पुलिस थाना पिण्डवाड़ा में देकर पुलिस की मौजूदगी में लाश को नीचे उतारा गया तथा संदिग्ध अवस्था में उसकी मृत्यु होने पर प्रकरण दर्ज करवाया । जांच के दौरान पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में उपस्थित होकर एक परिवाद पेश कर उसकी पुत्री के हत्या होने की आशंका पर रिपोर्ट पेश की गई, जिस पर पिण्डवाड़ा थाने में हत्या का प्रकरण पंजीबद्ध कर अनुसंधान शुरू किया गया ।

पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही


प्रकरण में तथाकथित अभियुक्त से पूछताछ की गई एवं तकनीकी व मनोवैज्ञानिक अनुसंधान किया गया तो पाया गया कि मृतका गंगी के, मोंटू ने यह जानते हुए कि वह स्वयं शादीशुदा है तथा यह बात छुपाकर गंगी से दोस्ती की और मेल मुलाकात रखी ।  28 मार्च को होली के रोज होली स्थल से गंगी को रात को लेकर जंगल में इधर-उधर घूमता रहा । सुबह के समय फैक्ट्री मोड तक लेकर आया और गंगा को घर जाने को कहा तब गंगा द्वारा शादी करने की बात कहने पर मोंटू द्वारा गंगा को पहले से शादीशुदा होना बताया जिसको लेकर दोनों में बहस हुई एवं रात भर साथ रहकर छोड़ने से गंगा लोक लाज के डर से घर नहीं जा सकती थी । मोंटू द्वारा धोखा देने के कारण उसके पास मरने के अलावा और कोई विकल्प नहीं होने से उसने आत्महत्या कर दी, जिस पर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मोंटू पुत्र रामाराम जाति गरासिया निवासी सारण फली अजारी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया ।

ये रहे पुलिस टीम में शामिल


जेठू सिंह आरपीएस उप अधीक्षक वृत्त पिण्डवाड़ा, अनोप सिंह सउनि, मोमराज हेड कांस्टेबल, कॉन्स्टेबल योगेंद्र सिंह, रवि कुमार, घनश्याम, नेमाराम, बीनू पचार, जितेंद्र सिंह,  राजेंद्र कुमार, सोहनलाल, लोकेश कुमार ।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )