Jodhpur @ अंतरराज्य वाहन चोर गिरोह व फर्जी आरसी बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश


जोधपुर। जोधपुर पुलिस को अंतर राज्य चोर जिला और फर्जी आरसी तैयार करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी सफलता हासिल हुई है। मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए तीन लग्जरी गाड़ियां और 25 वाहनों की फर्जी आरसी बरामद की है।
जोधपुर कमिश्नरेट पुलिस के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अंतर राज्य वाहन चोरी व फर्जी आरसी बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 3 मुलजिम गिरफ्तार किए । पुलिस ने इनके कब्जे से तीन लग्जरी गाड़ियां जब्त कर 25 फर्जी आरसी बरामद की।


पुलिस उपायुक्त दिगंत आनंद ने मिडिया को बताया कि अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का हाथ लगा है। कार्रवाई में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया तथा उनके कब्जे से तीन चोरी की लग्जरी क्रेटा गाड़ियां बरामद की है, साथ ही 24 हैवी व्हीकल्स तथा एक क्रेटा गाड़ी की फर्जी आरसी बरामद की गई। पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर एम्स रोड स्थित मंगलम रेस्टोरेंट के पास से खड़ी तीन गाड़ी बरामद की है, जिनके फर्जी रजिस्ट्रेशन नंबर पाए गए। मुल्जिम विक्रम यादव ने पूछताछ में बताया गया कि यह गाड़ीया अन्य राज्यों से फर्जी एनओसी तैयार कर आरटीओ ऑफिस में फर्जी दस्तावेज से रजिस्ट्रेशन बनवाये। इन आरसी के वाहनों का अस्तित्व भी नहीं है। जैसे-जैसे चोरी के वाहन उपलब्ध होंगे तब इन रजिस्ट्रेशन के मुताबिक उन चोरी की गई गाड़ियों के इंजन व चेसिस नंबर टेम्परिग कर बदल देते हैं। पुलिस ने विक्रम यादव, मनीष गोड व भगवान दास को गिरफ्तार किया। इन चोरों ने बताया कि यह गाड़ीया हरियाणा के सोहना ताऊ निवासी नाजिम से पिछले महीने ही ली थी। उनके साथ चौपाहिया वाहन व भारी वाहन ट्रक इत्यादि नई दिल्ली गुडगांव से चुराते। इसके बाद विक्रम यादव ने फर्जी रजिस्ट्रेशन ले जाते थे उन फर्जी रजिस्ट्रेशन के मुताबिक इंजन में चेसिस नंबर टेम्परिग कर बदल देते। गाड़ियों को असल की तरह बेच देते थे। इसके बदले में भारी मुनाफा कमाते थे शातिर चोरों द्वारा अन्य राज्य की फर्जी एनओसी से फर्जी दस्तावेज तैयार कर परिवहन कार्यालय से नई दिल्ली गुड़गांव में अन्य शहरों से चुराई हुई गाड़ियों के फर्जी रजिस्ट्रेशन तैयार कर रजिस्ट्रेशन के अनुसार चुराई गाड़ियों के इंजन चेसिस नंबर बदलकर बेचने का कार्य को अंजाम देते थे। जिसके बदले में भारी मुनाफा मिलता था। चौपासनी हाउसिंग थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान में यह तथ्य सामने आया कि यह गाड़ी है दिल्ली गुड़गांव में अन्य शहरों से गिरोह के द्वारा पहले महंगी लग्जरी गाड़ियों को फाइनेंस पर लेते हैं तथा 1-2 किस्त चुकाने के बाद उक्त गाड़ियों को चोरी होना बताकर या गाड़ियों के एक्सीडेंट के मुकदमा दर्ज करवाकर। फिर इन गाड़ियों को ही नये नंबर दस्तावेज फर्जी तैयार करवा कर लेते आगे बेचकर करोड़ों मुनाफा कमाया।
सीएचबी थाना पुलिस ने पचपदरा निवासी भगवान दास जोधपुर पाल रोड निवासी मनीष गौड़ शाहपुरा जयपुर निवासी विक्रम यादव को गिरफ्तार किया। इनके कब्जे से 25 फर्जी आरसी बरामद की साथ ही पुलिस द्वारा अनुसंधान में और भी बड़ी वाहन गिरोह का खुलासा होने की संभावना है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )