रूस-यूक्रेन की जंग के बीच यूक्रेन में फंसे पिण्डवाड़ा के छात्र आशीष कांटीवाल की सुरक्षित घर वापसी

पिण्डवाड़ा पहुंचने पर विधायक समाराम गरासिया सहित नगर वासियों ने किया स्वागत

रिपोर्ट – किशन माली

पिण्डवाड़ा/सिरोही । यूक्रेन के ऑडिशा नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस चतुर्थ वर्ष में पढ़ाई कर रहे पिंडवाड़ा के छात्र आशीष कांटीवाल यूक्रेन के ओडिशा से रोमानिया बॉर्डर होते हुए शुक्रवार देर रात्रि दिल्ली पहुंचे। दिल्ली से शनिवार को हवाई जहाज के द्वारा उदयपुर के महाराणा प्रताप हवाई अड्डा पर पहुंचे। जहाँ आशीष के परिजनों सहित प्रशासन की ओर से तहसीलदार मादाराम मीणा एवं आआई रुपाराम द्वारा आशीष को रिसीव किया गया एवं स्वागत सत्कार कर पिंडवाड़ा लाया गया।

वही पिंडवाड़ा पहुंचने पर आशीष का गर्मजोशी से नगर वासियों द्वारा मंगल कलश चौराहे पर माला पहनाकर स्वागत किया गया। आशीष के हाउसिंग बोर्ड में स्थित आवास पर स्थानीय विधायक समाराम गरासिया, उपखंड अधिकारी हसमुख कुमार ,पटवारी गोविंद सिंह ,पटवारी राजवीर चौधरी, पार्षद सुरेश मेवाड़ा ,छगन टॉक ,समाजसेवी कुपाराम, पूर्व प्रधान भंवरलाल, देवेंद्र पाल आदि ने भव्य स्वागत किया।

आशीष की जुबानी से जाने यूक्रेन से कैसे आए स्वदेश

आशीष कांटीवाल यूक्रेन के ऑडिशा नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस चतुर्थ वर्ष के छात्र है। आशीष के पिता पिंडवाड़ा में एक निजी चिकित्सक है जो स्वयं का सोनोग्राफी सेंटर संचालित करते हैं। आशीष ने घर पहुंचने के बाद ढोला मारू न्यूज से विशेष बातचीत में बताया कि वह 27 फरवरी को यूक्रेन में स्थित अपने आवास से समीप के मूंडवा बॉर्डर पर गए थे। जहां मुंडवा की कैप्टन सिटी चीसनो में रुके ।जहाँ उन्होंने एंबेसी से संपर्क कर बताया कि हम बहुत सारे छात्र हैं हमें रोमानिया ले जाया जाए। जहां दो ऑफिसर हमारे पास आए जिन्होने हमें बस द्वारा बुखारेस्ट रोमानिया भेजने की व्यवस्था की। जहां हम एक दिन शेल्टर में रुके तथा दूसरे दिन हमें बताया गया कि आपकी कल इंडिया के लिए फ्लाइट है। हम लोग बुखारेस्ट रोमानिया से भारतीय सेना के विमान में दिल्ली आए जहां भारत सरकार के ऑफिसर्स द्वारा हमे रिसीव किया गया तथा हमें अपने अपने स्टेट में भेजने की व्यवस्था की गई। यूक्रेन से भारत आने में हमें किसी भी प्रकार का कोई पैसा खर्च नहीं करना पड़ा तथा हमें भोजन आदि की भी कोई परेशानी नहीं हुई। वही आशीष ने इस पूरे घटनाक्रम को लेकर भारत सरकार का आभार जताया ।

आशीष के घर पहुंचते ही परिजनों में खुशी की लहर, झलके आंसू

शनिवार को आशीष यूक्रेन से सकुशल अपने घर पहुंचे ।जहां परिवार के सदस्यों ने तिलक ,आरती कर आशीष का स्वागत किया। तथा गले लगा कर खुशी जाहिर की इसी दौरान परिजनों के आंखों से आंसू झलक पड़े ऐसा मार्मिक दृश्य देखकर आसपास के लोग भी भावुक हो गए।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )