??? ???? ?????? ??? ???? ??? ??? ?? ????? ???? ?? ?? 5 ?????

[ad_1]

Things you should give up if you want to become successfulजिंदगी कभी-कभी हमें ऐसे मोड़ पर ले आती हैं जहाँ कामयाब होने के लिए कुछ पाने की जगह बहुत कुछ छोड़ना पड़ता हैं । हर किसी के जीवन में कुछ न कुछ ऐसा होता हैं या ऐसी बातें होती हैं जो उन्हें कामयाब होनें से रोकती हैं ।

आज इस लेख के द्वारा हम यह जानेंगें की ऐसी कौन सी बातें हैं जिन्हें एक साधारण व्यक्ति अगर छोड़ दे तो उसे कामयाब बनने से कोई नहीं रोक सकता।

बहानें बनाना छोड़ दें

जब भी हम कोई काम शुरू करते हैं तो बहुत सी अड़चने आती हैं। अगले दिन आपका पेपर था पर आपकी सेहत ख़राब थी इसलिये आप ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाये अगली बार आप अच्छा करने की कोशिश करेंगे| यह एक ऐसा बहाना है जो हम अक्सर खुद से और मित्रों से भी बताते हैं जबकि इसके लिये आप खुद ज़िम्मेदार होते हैं । आपको यह अच्छी तरह पता होता हैं की अपने पूरा साल नहीं पढ़ाई की इसलिये आप असफ़ल हुए।

एक सफ़ल व्यक्ति यह बात अच्छी तरह से समझता हैं की अपने जीवन की हर क़ामयाबी और नाकामयाबी के लिये वह ख़ुद ही जिम्मेदार होता हैं| एक सफ़ल व्यक्ति अपना काम पूरी ईमानदारी से करता हैं और अगर काम में असफ़ल रहता हैं तो असफ़ल होनें के कारणों को जानने की कोशिश करता हैं | वह कभी बहनें नहीं बनाता और खुद से बिलकुल भी नहीं।

दूसरों पर निर्भरता छोड़ दें

जन्म लेने के बाद हर व्यक्ति किसी न किसी कारण के वजह से दूसरों पर निर्भर होता हैं। उदाहरण के लिये, एक बच्चा  भोजन अथवा अन्य खर्चो के लिये अपने माता पिता पर निर्भर रहता हैं| कुछ छात्र नोट्स और होमवर्क के लिये अपने मित्रों पर निर्भर होते हैं | कई लोग कुछ समय बाद खुद को आत्म निर्भर बना लेते हैं और जिंदगी में आने वाली किसी भी कठनाईं का सामना करने के लिये तैयार रहतें हैं। वहीँ बहुत से लोग जीवन में लंबे समय तक कई कामों के लिये दूसरों पर निर्भर रहतें हैं। ऐसे लोग जीवन में आनें वाली कठनाइयों का ठीक से सामना नहीं कर पातें या फिर नई चुनौतियों के डर से आगें नहीं बढ़ते ।

कई लोग कुछ समय बाद खुद को आत्म निर्भर बना लेते हैं और जिंदगी में आने वाली किसी भी कठनाईं का सामना करने के लिये तैयार रहतें हैं । वहीँ बहुत से लोग जीवन में लंबे समय तक कई कामों के लिये दूसरों पर निर्भर रहतें हैं। ऐसे लोग जीवन में आनें वाली कठनाइयों का ठीक से सामना नहीं कर पातें या फिर नई चुनौतियों के डर से आगें नहीं बढ़ते ।

दूसरों पर आपकी निर्भरता जितनी काम होंगी उतनी ही ज्यादा उचाईयों को आप छूने में खुद को सक्षम होंगे ।

छोटीं चीज़ों का मोह छोड़ दें

आपमें बहुत से लोगों के साथ ऐसा हुआ होगा, की अगले दिन आपकी परीक्षा होती हैं पर तैयारी के दौरान टी.वी. पर एक अच्छी फ़िल्म या सीरियल आने लगता हैं। आप सोचते हैं की उसे देख ले फ़िर अच्छे से पढ़ेंगे पर फिर से कोई न कोई ऐसी ही घटना आपके साथ घट जाती हैं और आप परीक्षा में अपनी क्षमता के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर पातें। अक्सर जीवन में लोग छोटी खुशियां पानें के लिये अपने लक्ष्य पर पूरा ध्यान नहीं केंद्रित कर पातें जिससे उन्हें मनचाही सफ़लता नहीं मिल पातीं। अपने लक्ष्य पर पूरा ध्यान रखने वाला व्यक्ति ही सफ़लता हासिल कर पाता हैं।

छोटें फायदों का मोह त्याग दें

इसको भी हम उदाहरण के द्वारा इस प्रकार समझ सकते हैं, दो छात्र ग्रेजुएशन के बाद सरकारी नौकरी की तैयारी करना चाहतें थे। एक छात्र आर्थिक दिक्कतों की वजह से छोटी नौकरी करने लगा जिससे उसके ख़र्चे निकलने लगते हैं पर वो सरकारी नौकरी की तैयारी में पूरा ध्यान नहीं केंद्रित कर पाता और बाद में उसे असफ़लता मिलती हैं हलाकि उसकी नौकरी से उसके ख़र्चे निकलते रहे। वहीँ दूसरें छात्र क़ो भी आर्थिक संकटो का सामना करना पड़ा, पर वह उन संकटों से किसी तरह जूझा पर उसनें अपना पूरा ध्यान सरकारी नौकरी की तैयारी में रखा और बाद में उस छात्र क़ो बड़ी सफलता मिली, उस छात्र का मासिक वेतन जल्द नौकरी शुरू करने वाले की तुलना में दोगुना था। जिस छात्र ने जल्द नौकरी करना शुरू कर दिया जिससे वह बड़ी सफ़लता पाने में पूरा ध्यान केंद्रित नहीं कर पाया । हमे कोई भी निर्णय बहुत सोच समझ के लेना चाहिये हो सकता हैं हम तुरंत और छोटे लाभ के लिये बड़ी सफ़लता को खो रहे हों।

हर काम क़ो परफ़ेक्ट तऱीके सें करने की चाह छोड़ दें

बहुत बार ऐसा होता है की किसी काम को परफ़ेक्ट बनाने की चाह में हम उसे वक़्त पर पूरा ही नहीं कर पाते। उदहारण के लिये, आपको कही इंटरव्यू के लिये जाना है पर आपने सोचा हैं जब तक आपकी तैयारी पूरी नहीं हो जाती तब तक आप इंटरव्यू में नहीं बैठेंगे। कुछ लोग इस वजह से इंटरव्यू में कभी नहीं बैठ पातें। परफ़ेक्ट बनाए के चक्कर में हम बहु बार ज्यादा वक़्त ले लेते है जो कभी कभी असफ़लता का कारण बन जाता हैं।

इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी है आप काम को समय से करे और उसे परफ़ेक्ट बनाने की चाह में ज्यादा वक़्त न ले। दुनियाँ में कुछ भी परफेक्ट नहीं होता।

Highlights

  • Citing safety concerns, non-Kashmiri students demand
  • They are also calling for action against cops who lathicharged students
  • NIT campus has been tense since students clashed over Indias T20 defeat

[ad_2]

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )